DDCA मामला: चेतन चौहान बोले- फर्जीवाड़ा होता तो विराट कोहली टीम इंडिया के कैप्टन नहीं होते

चेतन चौहान, डीडीसीए उपाध्यक्ष और पूर्व क्रिकेटर
आम आदमी पार्टी की ओर से डीडीसीए में कथि‍त घोटाले और सेक्सुअल फेवर के आरोप सामने आने के बाद पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान ने पलटवार किया है. डीडीसीए के उपाध्यक्ष ने कहा कि डीडीसीए पर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं वह निराधार हैं और ऐसे बेबुनियाद आरोपों को गंभीरता से लेने की जरूरत है.
बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में चौहान ने कहा, 'बीते कुछ दिनों से डीडीसीए को लेकर जितनी बयानबाजी और आरोप सामने आए, उस पर पहले हमने कभी कुछ नहीं कहा, क्योंकि मामला पूरी तरह राजनीतिक था. लेकिन कुछ आरोप ऐसे भी सामने आए हैं, जिनका जवाब देने की अब जरूरत आ पड़ी है.' उन्होंने कहा कि अगर डीडीसीए में सेलेक्शन के दौरान किसी तरह पैसों का लेन-देना होता तो विराट कोहली जैसे खिलाड़ी टीम इंडिया के लिए खेलते हुए इसकी अगुवाई ना कर रहे होते.

चौहान ने खारिज किए सेक्स रैकेट से जुड़े आरोप
सेलेक्शन को लेकर लगे आरोपों पर जवाब देते हुए डीडीसीए उपाध्यक्ष ने कहा, 'बहुत ही गंभीर आरोप लगाए गए हैं. मैं पूरी तरह दावे के साथ कहता हूं कि हमारे खिलाफ किसी भी तरह की शिकायत नहीं है और अगर ऐसी कोई शिकायत कहीं है तो हम उसकी स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच कराने का वादा करते हैं.' उन्होंने कहा कि आरोपों को बिना किसी सबूत के गंभीरता से लेना ठीक नहीं है और इस मामले में किसी भी तरह से दूसरी जांच की जरूरत नहीं है. चौहान ने एक अधिकारी पर खिलाड़ियों के सेलेक्शन के बदले सेक्स की डिमांड करने के आरोपों को भी सिरे से खारिज कर दिया.

डीडीसीए सेक्रेटरी ने किया जेटली का बचाव
डीडीसीए के सेक्रेटरी सुनील देव ने वित्त मंत्री अरुण जेटली की ओर से पत्र लिखे जाने को लेकर उनका बचाव किया है. आम आदमी पार्टी के नेताओं ने जेटली की ओर से दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को सिंडिकेट बैंक क्रिकेट क्लब मामले में लिखे गए पत्र को उजागर करते हुए आरोप लगाए थे. इस पर देव ने कहा कि डीडीसीए के अध्यक्ष के तौर पर जेटली को अपने बचाव और पत्र लिखने का पूरा अधिकार है.
उन्होंने कहा, 'डीडीसीए में किसी ने भी कोई गलत काम नहीं किया है. मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि सरकार ने 27 जुलाई 2015 को पत्र लिखकर मनोरंजन कर और बॉक्स की जांच के लिए कहा था. सुनील देव ने कहा कि लोगों को भ्रमित किया जा रहा है.

(Source:Aaj Tak)

Post a Comment

[blogger][disqus][facebook]

Author Name

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.